वसीम अकरम ने कहा सहवाग नहीं इस खिलाड़ी ने बदला टेस्ट में ओपनिंग का स्टाइल, नाम जानकर होगी हैरानी

0

दुनिया में तेज बल्लेबाजी करने के लिए मशहूर है वीरेन्द्र सहवाग लेकिन वसीम अकरम ने किसी और का नाम लिया

इंटरनेशनल क्रिकेट में जब से टी-20 क्रिकेट आया. तब से सभी बल्लेबाज हर फॉर्मेट में एक जैसी बल्लेबाजी (टी-20 जैसी ) करना पसंद करते हैं. फिर चाहे टी-20 हो, वनडे या टेस्ट. इस नए दौर में सबको ताबड़तोड़ खेल पसंद है. लेकिन यह तो आप सबको पता है कि टी-20 क्रिकेट के आने से पहले ही भारतीय बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग अपने खेल के लिए काफी मशहूर थे.

loading...

उन्हें टेस्ट में भी तेज बल्लेबाजी करना पसंद था. फिर सामने कोई भी गेंदबाज हो. उनकी गाड़ी एक ही तरह चलती थी. इसलिए दुनिया का हर गेंदबाज उनके सामने गेंदबाजी करने से काफी घबराता था.

अफरीदी ने बदला टेस्ट ओपनिंग के स्टाइल को

लेकिन हाल ही में पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने कहा है कि टेस्ट क्रिकेट में ओपनिंग के स्टाइल को बदलने वाले बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग नहीं बल्कि उनके हमवतन साथी शाहिद अफरीदी थे.

Virender-Sehwag

हाल ही में वसीम अकरम ने यूट्यूब चैनल पर शाहिद अफरीदी से बात करते हुए कहा कि टेस्ट क्रिकेट में वीरेंद्र सहवाग बाद में आए. लेकिन साल 1999-2000 में शाहिद आफरीदी ने ओपनिंग बल्लेबाजी के माइंड सेट को बदल दिया था.

इसके आगे वसीम अकरम ने कहा कि अगर मैं शाहिद आफरीदी के सामने होता. तो मुझे पता होता कि मैं उन्हें आउट कर लूंगा. लेकिन मुझे यह भी पता होता कि मुझे बाउंड्रीज भी पड़ेंगी.

भारत दौरे का हिस्सा नही होने वाले थे अफरीदी

शाहिद आफरीदी कमजोर गेंदों को छक्के के लिए मारते थे. अकरम ने यह भी बताया कि शाहिद आफरीदी साल 1999-2000 में भारत का दौरा करने वाली पाकिस्तान टीम का हिस्सा नहीं होने वाले थे.

अकरम ने आगे बताया कि मैंने इमरान खान को फोन किया और कहा कि कप्तान मैं अफरीदी को भारत के दौरे पर ले जाना चाहता हूं. लेकिन कुछ चयनकर्ता इसके लिए राजी नहीं हैं. इमरान खान ने मुझसे कहा कि तुम्हें इसे पक्के तौर पर ले जाना चाहिए. वो एक-दो टेस्ट मैच जिता देगा और उससे ओपनिंग कराना.Shahid afridi

इमरान की सलाह काफी उपयोगी होती थी

इसके आगे इमरान खान ने अकरम को सलाह देते हुए कहा कि तुम्हें उसे जरूर ले जाना चाहिए और उनसे ओपनिंग करानी चाहिए. मैं अक्सर इमरान से चर्चा करता था और उनकी सलाह काफी उपयोगी होती थी. इसके बाद विस्फोटक बल्लेबाजी में माहिर शाहिद अफरीदी को भारत दौरे पर खेलने का मौका मिला.

शाहिद आफरीदी ने भी इसके बाद मौके को भुनाते हुए चेन्नई में खेले गए पहले टेस्ट मैच में 141 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली और अपने टेस्ट करियर का पहला शतक जड़ दिया. अकरम ने अफरीदी की उस पारी को याद करते हुए कहा कि अफरीदी ने आगे बढ़कर अनिल कुंबले और सुनील जोशी की गेंदों पर बेहतरीन छक्के लगाए थे. पाकिस्तान ने वो टेस्ट सीरीज 2-1 से जीती थी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.