Tuesday, September 27, 2022

2022 में ऑस्कर लाएगा इंडियन सिनेमा…?

94वें अकादमी पुरस्कार मार्च 2022 में अमेरिका में आयोजित किए जाएंगे। ऑस्कर में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली फिल्म का चयन करने की प्रक्रिया कोलकाता के भवानीपुर में बिजोली सिनेमा में हो रही है। ऑस्कर 2022 में भारत की आधिकारिक तौर पर शॉर्टलिस्ट करने के लिए 15 जजों का एक पैनल अगले कुछ दिनों में 14 फिल्में देखने वाला है।

ऑस्कर अवॉर्ड फ़िल्म दुनिया का सबसे बड़ा अवॉर्ड माना जाता है। आखिर हो भी क्यों न बड़ा। अब तक 93 बार ये अवॉर्ड दिए जा चुके हैं। और 94 वें ऑस्कर अवॉर्ड के लिए हर देश अपनी तरफ से फ़िल्म भेज रहा है। ऐसे में भारत की ओर से भी कई भाषाओं की फिल्मों का चयन ऑस्कर अवॉर्ड्स के लिए सलेक्ट किया गया है। अब देखना यह है कि क्या हम इस बार सफल हो पाते हैं।

दरअसल अमेरिका की ‘अकेडेमी ऑफ़ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज़’ द्वारा दिए जाने वाले अकेडमी पुरस्कार, जिन्हें ऑस्कर पुरस्कार भी कहा जाता है। वे फिल्म व्यवसाय से जुड़े सर्वश्रेष्ठ निर्देशकों, कलाकारों, लेखकों व तकनीशियनों को दिए जाते हैं। 16 मई 1929 को पहली बार हॉलीवुड में ‘होटल रुज़वेल्ट’ में सम्मान समारोह आयोजित किया गया था।

विश्व के सबसे बड़े पुरस्कार समारोहों में से एक इस पुरस्कार के लिए होने सालाना आयोजन जिसे आप फिल्मी दुनिया का उर्स कह लीजिए, उसका प्रसारण भी 200 से अधिक देशों में टीवी पर किया जाता है। यह मीडिया का सबसे पुराना पुरस्कार समारोह है और इसके समकक्ष अन्य पुरुस्कारों में ग्रेमी पुरस्कार (संगीत के लिए), एमी पुरस्कार (टेलीविजन के लिए) और टोनी पुरस्कार (थिएटर के लिए) हैं।

हालांकि अकादमी द्वारा प्रदान किये जाने वाले अन्य सात प्रकार के पुरस्कार हैं (इरविंग जी. थालबर्ग मेमोरियल पुरस्कार, जीन हर्शोल्ट मानवतावादी पुरस्कार, गॉर्डन ई. सौयर पुरस्कार, साइंटिफिक एंड इंजीनियरिंग अवार्ड, तकनीकी उपलब्धि पुरस्कार, जॉन ए. बोनर प्रशस्ति पदक और छात्र अकादमी पुरस्कार), सबसे ज्यादा ज्ञात अकेडमी अवार्ड ऑफ़ मेरिट है। जिसे लोकप्रिय रूप से ऑस्कर प्रतिमा के रूप में जाना जाता है। काले धातु के आधार पर सोने की परत चढ़े हुए ब्रिटेनियम से निर्मित यह प्रतिमा 13.5 इंच (34 सेमी) लंबी होती है और 8.5 पाउंड (3.85 किलो) वजन की होती है। इस अवॉर्ड की प्रतिमा में योद्धा की तलवार लिए हुए एक शख्स नजर आता है जो पांच तिल्लियों वाली एक फिल्म रील पर खड़ा है। प्रत्येक पांच तिल्ली अकादमी की मूल शाखाओं अभिनेता, लेखक, निर्देशक, निर्माता और तकनीशियन का प्रतिनिधित्व करती है।

2004 के बाद से, अकादमी पुरस्कार नामांकन के परिणाम को जनवरी के अंत में जनता के लिए घोषित किया जाता है। इससे पहले इनका परिणाम फरवरी में घोषित किया जाता था।

भारत में भी हमेशा से ऑस्कर के लिए दिलचस्पी रही है। किंतु हमें अभी तक सिर्फ पांच बार ही ऑस्कर अवार्ड से नवाजा गया है। यह एक विचारणीय प्रश्न है। कायदे से देखा जाए तो हमारे यहां बॉक्स ऑफिस हिट करने का चलन रहा है, हमारे निर्माताओं, निर्देशकों, कहानीकारों ने कभी अकेडमी अवार्ड की तरफ ज्यादा ध्यान दिया ही नहीं। अभी ताजारीन अवॉर्ड में सिंगर और म्यूजिक कंपोजर ‘एआर रहमान’, गीतकार ‘गुलजार’ और म्यूजिक मिक्सिंग करने वाले ‘रेसुल पोक्कुट्टी’ को एक ही फिल्म के लिए अलग-अलग कैटगरी में अवार्ड मिला है। इससे पहले ‘गांधी’ फ़िल्म को यह अवार्ड मिला था। जिसमें कॉस्ट्यूम डिजाइनर ‘भानु अथैया’ का नाम आता है। साल 1983 में आई फिल्म’ गांधी’ के लिए उन्होंने ‘जॉन मोलो’ के साथ मिलकर कॉस्ट्यूम डिजाइन किए थे।

इस फ़िल्म के बाद साल 1991 में देश के दिग्गज फिल्ममेकर ‘सत्यजीत रे’ को ऑस्कर अवार्ड से सम्मानित किया गया। उन्हें ‘ऑनरेरी लाइफटाइम अचीवमेंट’का ऑस्कर अवार्ड मिला था। हालांकि इस अवार्ड को लेने के लिए वह ऑस्कर सेरेमनी में शामिल नहीं हो पाए थे। यह अवार्ड उन्हें सिनेमा अमुल्य योगदान देने के लिए मिला था।

साल 2002 के Oscars के लिए जो फिल्में भारत की तरफ से शॉर्टलिस्ट हुई हैं उनमें शेरनी और उधम सिंह सहित अन्य 14 फिल्मों को देखने बाद यह निर्णय लिया गया। बॉलीलीवुड अभिनेत्री ‘विद्या बालन’ और अभिनेता ‘विक्की कौशल’ के फैंस के लिए यह खुशखबरी है। इन दोनों की फिल्म ‘शेरनी’ और ‘सरदार उधम’ को अगले साल होने वाले ऑस्कर अवॉर्ड से लिए चुना गया है। इन दोनों फिल्मों को ऑस्कर की बेस्ट इंटरनेशनल फीचर फिल्म कैटेगरी के लिए चुना गया है। फिल्मों से चयन की प्रक्रिया कोलकाता में चल रही है।

अंग्रेजी वेबसाइट इंडिया टुडे की खबर के अनुसार हाल ही में ऑस्कर के जूरी मेंबर्स ने कोलकाता में 14 फिल्मों की स्क्रीनिंग रखी है। जिसके बाद विद्या बालन की फिल्म शेरनी और विक्की कौशल की फिल्म सरदार उधम को चुना गया है। यह दोनों फिल्म इस साल ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज की गई थी।

ऑस्कर अवार्ड के लिए भारत की तरफ से नॉमिनेट की गई फिल्मों में ‘शेरनी’ और ‘उधम सिंह’ के अलावा मलयालम फिल्म ‘नयट्टू’ और तमिल फिल्म ‘मंडेला’ भी ऑस्कर 2022 की नॉमिनेशन दौड़ में हैं।

कोरोना के इस दौर में जहां अभी तक ताले लटके हैं तो वहीं दूसरी ओर कई बेहतरीन फिल्मों का निर्माण इस बीच चलता रहा। इसी का नतीजा है कि फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (Film Federation of India) की 15 सदस्यों की जूरी ने ‘अकादमी अवॉर्ड्स’ (Academy Awards) में भारत की एंट्री के लिए 14 फिल्मों को शॉर्ट लिस्ट किया। इस जूरी की अध्यक्षता ‘शाजी एन करन’ ने की।

बता दें कि, अगले साल 27 मार्च को 94वां अकादमी अवॉर्ड्स (94th Academy Award) आयोजित किया जाना है। बॉलीवुड लोचा टीम यह उम्मीद करती है कि जिस तरह से शेरनी और सरदार उधम को अच्छा रिपॉन्स मिला है हर जगह वैसे ही ये सलेक्ट होकर ऑस्कर के लिए भेजी जाएं और इस बार अवश्य ही भारत की झोली में भी ऑस्कर अवॉर्ड आ ही जाए तो बहुतेरे फ़िल्म मेकर्स के लिए यह प्रेरणा देने का काम करेगा।

Bollywoodlocha Team
Bollywoodlocha Teamhttps://hotleague.net/
If you love gossips , controversial or good news about bollywood , then this is the best place for you to read latest bollywood news. We care about your entertainment.

Related Articles

Stay Connected

21,986FansLike
3,503FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles