शोधकर्ताओं का दावा इस देसी नुस्खें से दूर भागेगा कोरोना, कम होगा संक्रमण का खतरा

0
24
देसी नुस्खें

कोरोना वायरस का संक्रमण दिन प्रतिदिन भारत सहित पूरे विश्व में बढ़ता जा रहा है। इस वैश्विक महामारी के इलाज के लिए पूरी दुनिया के वैज्ञानिक इसकी वैक्सीन ढूढने में लगे हुए है। जहां एक तरफ इसकी वैक्सीन चली रही खोज में काफी हद तक सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं तो वहीं विश्व की कई सारी कई कंपनियां इसकी दवा तैयार करने में लगी है। जहां कोरोना संक्रमित मरीजों के बचाव के लिए भारतीय केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय समय समय पर अपनी सलाह और सुझाव देता रहता है तो वहीं, आयुष मंत्रालय ने भी आयुर्वेद और घरेलू नुस्खों में इस महामारी से बचाव के उपाय बताए हैं। इतना ही नहीं लोग कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए कई तरह के घरेलू नुस्खे अपना रहे हैं। नमक के पानी से गरारे करना इन्हीं में से एक है। इस घरेलू नुस्खे पर ब्रिटेन के शोधकर्ताओं ने भी अपने अध्ययन में इस पर मुहर लगाई है।

और पढ़े: जानिए जानवरों से कैसे इंसानों में फैला कोरोना वायरस

1.नमक पानी के गरारे को लेकर ब्रिटेन की एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इस पर अध्ययन किया है। शोधकर्ताओं के अनुसार, नमक के पानी से गरारे करने से कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षणों को काफी हद तक कम किया जा सकता है। इसके साथ ही इस नुस्खे से कोविड संक्रमण की अवधि भी कम की जा सकती है।

2. ब्रिटेन के रिसर्चकर्ताओं ने कोरोना से संक्रमित 66 मरीजों पर 12 दिन तक अध्ययन किया है। शोधकर्ताओं ने बताया कि इन 66 मरीजों को इलाज के दौरान नमक मिले गुनगुने पानी से गरारा करने के लिए भी कहा गया था। शोधकर्ताओं ने बताया कि 12 दिनों के बाद इन मरीजों की नाक से जब सैंपल लिए गए तो उनमें संक्रमण के लक्षण बहुत ही कम दिखे।

3. जर्नल ऑफ ग्लोबल हेल्थ में प्रकाशित इस रिसर्च के मुताबिक, नमक के गरारे करने वाले मरीजों में औसतन ढाई दिन के अंदर कम संक्रमण पाया गया। शोधकर्ताओं का दावा है कि नमक का गरारा करने से कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रभाव कम किया जा सकता है। शोधकर्ताओं ने कहा कि गरारे की मदद से इस बीमारी के खतरे को कम समय में ठीक किया जा सकता है।

4. मालूम हो कि पहले भी स्वास्थ्य विशेषज्ञ कह चुके हैं कि गरारे की मदद से कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के खतरे को कम किया जा सकता है। उनका कहना था कि नियमित अंतराल में अगर माउथवॉश/गरारे किया जाए तो इससे कोरोना वायरस की गंभीरता कम की जा सकती है।

और पढ़े: दुनिया के 5 सबसे तेज गेंद फेंकने वाले गेंदबाज, नंबर 4 का नाम जानकर होगी हैरानी

5. हाल ही में आयुष मंत्रालय ने भी लोगों को गर्म पानी पीने की सलाह दी है। आयुष मंत्रायल की गाइडलाइन के अनुसार, सुबह-शाम गर्म पानी से गरारे करने से गला साफ रहता है और इसके साथ ही वायरल संक्रमण के खतरे से भी बचा जा सकता है। गरारे करना भारतीय जीवनशैली का हिस्सा रहा है। गला खराब होने, आवाज बैठ जाने की स्थिति में भारतीय घरेलू नुस्खे के तौर पर इसका प्रयोग करते रहे हैं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here