बस इतनी सी गुजारिश है ‘बात करें’ ताकि फिर कोई सुशांत की तरह नेपोटिज्म का शिकार ना बनें

0
355

Nepotism In Bollywood: सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या पर फैंस सहित पूरा बॉलीवुड सदमें है जी हां वही बॉलीवुड जो कहीं ना कहीं सुशांत की मौत का जिम्मेदार है कई मीडियो रिपोर्ट्स और सोशल मीडिया पर यही कहा जा रहा है इतना ही ये भी कहा जा रहा है कि बॉलीवुड में नेपोटिज्म है और ये बहुत हद तक सही भी है, बहुत से लोग जिनकों ये जानने की बहुत उत्सुकता है आखिर नेपोटिज्म क्या और ये कैसे काम करता है तो क्यों चलिए हम आपको बताते हैं।

नेपोटिज्म क्या है

भाई-भतीजावाद दोस्तवाद के बाद आने वाली एक राजनीतिक शब्दावली है जिसमें योग्यता को नजर अन्दाज करके अयोग्य परिजनों को उच्च पदों पर आसीन कर दिया जाता है। नेप्टोइज्म शब्द की उत्पत्ति कैथोलिक पोप और बिशप द्वारा अपने परिजनों को उच्च पदों पर आसीन कर देने से हुई। बाद में इस धारणा को राजनीति, मनोरंजन, व्यवसाय और धर्म सम्बन्धी क्षेत्रों में भी बल मिलने लगा। (Nepotism In Bollywood)

भारत में नेपोटिज्म का अक्सर मुद्दा उठाया जाता है। फिल्म इंडस्ट्री, पॉलिटिक्स और बिज़नस में नेपोटिज्म सालों से चलता आ रहा है। परिवारवाद का नाम इसलिए यहाँ काफी आम है। मतलब सीधे शब्दों में कहें तो नेपोटिज्म का मतलब है अपने दोस्त रिश्तेदार को काम देना चाहे उसमें टैलेंट हो या नही और बाकी दुनिया जाए भाड़ में। यही असल में सुशांत सिंह राजपूत के साथ जिनका इंडस्ट्री में गॉडफादर नही था वो आज भी जो थे अपने अपने टैलेंट और एक्टिंग स्किल के चलते थे उन्होंने बॉलीवुड की कई शानदार फिल्मों में काम किया। लेकिन छिछोरे हिट होने के बाद उनसे 7 फिल्में छीनी गई थी।

Nepotism In Bollywood

इस बात की चर्चा पूरे सोशल मीडिया पर है कि, एक्टर ने खुदखुशी अपने डूबते करियर की वजह से की. क्योंकि, वह एक चमकता सितारा तो थे (3)लेकिन, उनके पास प्रोजेक्ट्स नहीं थे और जो थे वो भी उनसे छीन लिए गए थे. जी हां, कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने एक्टर की मौत के बाद एक ट्वीट में बताया कि, फिल्म छिछोरे के बाद एक्टर से 7 फिल्में छीनी गईं थीं.

करण जौहर के साथ हुआ था झगड़ा

सुशांत सिंह की मौत के बाद ट्विटर पर एक्टर के फैन ने स्क्रीनशॉट शेयर किया जिसमें एक्टर ने खुद को बॉलीवुड से निकाल देने की बात कही थी. भले ही तब वो बात मजाक में कही गई होगी लेकिन, अब उनका एक-एक शब्द काफी भारी लग रहा है. (Nepotism In Bollywood)

बताया जा रहा है कि, एक्टर ने धर्मा प्रोडक्शन्स के लिए फिल्म ड्राइव साइन की थी और इसके लिए उन्होंने बहुत सारे अच्छे प्रोजेक्ट छोड़ दिए थे. मगर ड्राईव का काम हर बार टलता रहा और जब फिल्म बनकर तैयार हुई तो करण ने सुशांत को बताए बगैर ही नेटफ्लिक्स पर फिल्म रिलीज़ कर दी.

करण जौहर हैं वजह?

करण जौहर के इस कदम पर दोनों के बीच काफी बहस भी हुई थी. हालात ऐसे बन गए थे कि, जब सुशांत फिल्म मेकर करण को कॉल करते तो वह नजरअंदाज कर देते थे. खुद करण ने एक्टर की मौत के बाद जो ट्वीट किया है उसमें लिखा है कि, उन्हें सुशांत से बात करनी चाहिए थी.

सुशांत को कर दिया था बैन

गपशप गली के मुताबिक, इस झगड़े के बाद सुशांत सिंह को सिर्फ धर्मा ने ही नहीं बल्कि यशराज फिल्म्स ने भी उन्हें बैन कर दिया था. जिससे एक्टर को गहरा सदमा लगा था. माना जा रहा है कि, इन्हीं सारी चीजों के बाद एक्टर डिप्रेशन में आ गए और 6 महीनों तक तनाव से जूझने के बाद उन्होंने बड़ा कदम उठा लिया.

बॉलीवुड का काला सच

सुशांत ने करियर को बनाने के लिए काफी मेहनत की थी और सफलता भी हासिल की थी. लेकिन, उनकी यही सफलता कुछ लोगों को रास नहीं आई और उनके हाथ से अच्छे-अच्छे प्रोजेक्ट छीनते गए. खबर है कि, जब संजय लीला भंसाली राम लीला बना रहे थे तो उन्होंने आदित्य चोपड़ा से सुशांत को मांगा था. उस वक्त सुशांत सिर्फ यशराज फिल्म्स के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे. पर भंसाली को आदित्य ने मना कर दिया. (Nepotism In Bollywood)

ये थी 3 बड़ी वजह

पर जब रणवीर सिंह को राम लीला करने का मौका मिला तो सुशांत निःशब्द हो गए क्योंकि, रणवीर सिंह भी यशराज टैलेंट थे. ऐसे में सुशांत को काफी बुरा महसूस हुआ था. इसके बाद खबरें आई कि, आदित्य चोपड़ा की फिल्म बेफिक्रे में सुशांत होंगे लेकिन, ये मौका भी उन्हें नहीं मिला. पर सुशांत से वादा किया कि, वह एक अच्छे प्रोजेक्ट पर काम करेंगे. फिर समय आया शेखर कपूर के पानी प्रोजेक्ट का. सुशांत ने इसके लिए खूब मेहनत की. पर यहां भी सुशांत को धोखा दिया गया और दो साल बाद पानी के प्रोडक्शन से उन्हें बाहर कर दिया गया. माना जा रहा है कि, इन्हीं 3 बड़ी वजहों से सुशांत डिप्रेशन में थे.

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत Nepotism In Bollywood

करण जौहर ने दिया गलत का साथ!

पानी प्रोजेक्ट भी हाथ से निकल जाने के बाद जब सुशांत ने आदित्य चोपड़ा से बात करनी चाही तो दोनों के काफी बहस हुई. जिसमें करण जौहर भी कूद पड़े लेकिन करण ने सही गलत न देखकर दोस्त आदित्य का साथ दिया और यहां फिर से सुशांत को झटका लगा.खबरें ऐसी भी मिली हैं कि, इन सारी चीजों के बाद कई बड़े प्रोडक्शन हाउस सुशांत से दूर रहने लगे थे वह उन्हें किसी भी फिल्म में काम नहीं देना चाहते थे और इस तरह सुशांत बॉलीवुड से दूर हो गए थे. शायद इन्हीं सब कारणों की वजह से आज एक हंसता चेहरा सबको रुलाकर चला गया. (Nepotism In Bollywood)

फैंस से बात करों क्यों आपको प्यार भी करते है और नफरत लेकिन…

मैं बस कहना चाहता हूं की अब एक्टर जरा संभलकर रहें जिनका इंडस्ट्री में कोई गॉडफादर नही है, अगर आपने गली बॉय देखी होगी तो आपका इतना मालूम होगा की गली बॉय में एम सी शेर का किरदार निभाने वाले सिद्धांत चतुर्वेदी पूरी फिल्म में छाए रहे है और कहीं भी रणवीर सिंह से उन्नीस नही लगे, आप सिद्धार्थ मल्होत्रा को भी जानते होंगे इनका भी इंडस्ट्री में कोई गॉडफादर नही है लेकिन इन्हें लॉन्च करण जौहर ने किया अब इसकी सच्चाई तो नही पता की करण जौहर और सिद्धार्थ मल्होत्रा की दोस्ती असल में कैसे हुई लेकिन इतना जरुर है कि वो करण जौहर की गैंग का हिस्सा है और कब वो निकाल दिए जाए किसी को नही पता। और ये बात इंडस्ट्री के हर एक्टर पर लागू होती है जो छोटे से शहर आकर अपना एक अलग नाम बना लेता है। अंत में बस इतना कहना चाहूंगा की अगर किसी एक्टर के साथ गलत हो रहा है तो, भूल जाएं वो कि उन्हें काम नही मिलेगा, भूल जाए इंडस्ट्री के लोग अच्छे है, और अपने लाखों-करोड़ो फैंस से बात करें अपनी फैमिली से बात करें वो आपको सपोर्ट करेंगे, क्योंकि इन डायरेक्टर्स प्रोड्यूसर और इंडस्ट्री ने आपको नही बनाया, आपको बनाया है, तो हम लोगों ने जो आप से प्यार भी करते है और नफरत भी करते है लेकिन यहां नफरत का प्रतिशत थोड़ा कम होता है। अगर आपके साथ गलत हो रहा है तो खुलकर सामने आए ताकि फिर सुशांत सिंह राजपूत की सुसाइड ना करें क्योंकि हर युवा आज एक्टर बनने का सपना देख रहा है।

इस पर आपकी क्या राय है कमेंट करके जरुर बताएं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here