अश्लीलता और कामुकता के चलते भारत में बैन है ये 5 फिल्में, नंबर 1 ने तोड़ी थी सारी हदें

0
1509
5 Movies Banned In India By The Censor Board

हिंदी सिनेमा जगत का इतिहास काफी पुराना है. कई ऐसी फिल्में हैं जो दर्शकों के दिलों में बसी हुई हैं तो कुछ ऐसे भी फिल्में हैं जिनका विवादों से नाता है. तो कुछ फिल्में रिलीज ही नहीं हो पाई क्योंकि रिलीज से पहले ही सेंसर बोर्ड ने फिल्म की रिलीज रोक दी. दरअसल, किसी भी फिल्म को थिएटर्स में रिलीज से पहले सेंसर बोर्ड के सामने दिखाया जाता है और बोर्ड को अगर फिल्म में कोई सीन या लाइन विवादित लगती है तो उस चीज को मेकर्स से हटाने के लिए कहा जाता है. इसके बाद ही फिल्म को कैटेगरी सर्टिफिकेट मिलता है और फिल्म रिलीज होती है. मगर कई फिल्में ऐसी हैं जिनके रिलीज पर इस कदर का बवाल मचा कि उन फिल्मों को भारत में हमेशा के लिए बैन कर दिया गया. तो आइए नजर डालते हैं ऐसी पांच विवादित फिल्मों पर.

भारत में बैन हुई पांच बॉलीवुड फिल्में

अनफ्रीडम (Unfreedom)

Unfreedom

बैन की गई फिल्म में सबसे पहले नाम आता है फिल्म ‘अनफ्रीडम’ (Unfreedom) का. ये फिल्म 2014 में बनी थी लेकिन बैन हो गई. क्योंकि ये फिल्म पूरी तरह से समलैंगिक रिश्तों पर आधारित थी. फिल्म में हद से ज्यादा अश्लीलता परोसी गई थी और इस कारण सेंसर बोर्ड ने कुछ सीन्स पर कैंची ना चलाकर फिल्म की रिलीज पर ही रोक लगा दी थी.

फायर (Fire)

Fire

फिल्म ‘फायर’ भी एक ऐसी मूवी थी जो समलैंगिक रिश्तों पर बनाई गई थी. फिल्म का निर्देशन दीपा मेहता ने किया था. फिल्म की कहानी ऐसी दो मध्यवर्गीय परिवार की महिलाओं पर आधारित थी जिनका रिश्ता देवरानी और जेठानी का होता है. मगर दोनों एक-दूसरे के प्रति आकर्षित होने लगती हैं. इस फिल्म को जब सेंसर बोर्ड के पास ले जाया गया तो उन्होंने फिल्म बैन कर दी थी. Read Also:- रातों-रात सुपरस्टार से नशा और वेश्यावृत्ति तक का सफ़र, ऐसे हुआ एक हसीन एक्ट्रेस का दर्दनाक अंत

द पेंटेड हाउस (The Painted House)

The Painted House

फिल्म ‘द पेंटेड हाउस’ साल 2015 में बनी थी और जमकर हंगामा हुआ था. क्योंकि फिल्म में एक बुजुर्ग शख्स और एक लड़की के बीच संबंधों को दिखाया गया था. फिल्म में काफी ज्यादा अश्लीलताthe painted houseथी इसलिए सेंसर बोर्ड ने फिल्म बैन कर दी थी. लेकिन यू-ट्यूब पर इस फिल्म के कुछ सीन दिखाई दे जाते हैं मगर पूरी फिल्म कभी रिलीज नहीं हो पाई.

सिंस (Sins)

Sins

यशराज बैनर तले बनी फिल्म ‘सिंस’ साल 2005 में बनी थी और इस फिल्म की रिलीज से ईसाई धर्म के लोगों को आपत्ति हुई थी. क्योंकि फिल्म की कहानी एक जवान लड़की और पादरी के प्रेम प्रसंग पर आधारित थी. इससे ईसाई धर्म के लोगों को भावनाओं को ठेस पहुंची थी इसी कारण सेंसर बोर्ड ने फिल्म रिलीज की मंजूरी ना देते हुए फिल्म बैन कर दी थी.

वाटर (Water)

Water

निर्देशक दीपा मेहता ने विधवा महिलाओं की लाइफ से जुड़ी स्याह दुनिया को दिखाने के लिए फिल्म ‘वाटर’ बनाई. इस फिल्म को अकदामी अवॉर्ड 2007 के लिए नॉमिनेट भी किया गया लेकिन फिल्म पर इस कदर बवाल मचा कि सेंसर बोर्ड को फिल्म बैन करनी पड़ी.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीवुडलोचा.कॉम (Bollywoodlocha.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here