INTERVIEW: कॉमेडी ऐसी चीज है जो मुझे बहुत पसंद है – परमीत सेठी

0
231

परमीत सेठी एक भारतीय अभिनेता है जिन्होंने कई फिल्मों में अपने किरदार से फिल्म में जान डाली है अब परमीत लाइफ ओके के नये शो ‘हर मर्द का दर्द’ में को डायरेक्ट कर रहें है पेश है उनसे हुई बातचीत के कुछ अंश

हर मर्द का दर्द को निर्देशित करने का विचार कैसे आया ?

निर्माता दिया और टोनी सिंह ने मुझे बुलाया और पूरा कांसेप्ट बताया तो मुझे यह बेहद दिलचस्प लगा और मैंने सोचा कि मैं इसमें अपना इनपुट डाल कर इसे और अनूठा बना सकता हूं। इसी वजह से मैंने शो निर्देशित करने की हामी भरी। शो समाज में हर आदमी की उस सबसे बड़ी समस्या पर बात करता है जो सदियों से इस सवाल का जवाब खोजने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर ‘महिलाएं सोचती क्या हैं’। इस सिटकॉम की कहानी एक पंजाबी परिवार के इर्दगिर्द घूमती है और महिलाएं आखिर चाहती क्या हैं, ये न समझ पाने की वजह से जो भ्रम की हालत और दिलचस्प मोड़ा पैदा होते हैं वो दर्शकों को हंसा हंसा कर लोटपोट कर देंगे। दरअसल वे इसे बेहतरीन आउटडोर, बड़े बजट आदि के साथ फिल्म जैसा लुक देना चाहते थे और यह भी मेरी दिलचस्पी की एक वजह रही। मेरा मानना है कि शो तुरंत दर्शकों से अपना जुड़ाव बना लेगा।

क्या कोई खास वजह है कि आप हमेशा कॉमेडी ही निर्देशित करना चाहते हैं ?

कॉमेडी ऐसी चीज है जो मुझे बहुत पसंद है और जितना संभव हो मैं यही निर्देशित करना चाहता हूं। मेरे साथ कुछ सहज तरीके से होता है तो मुझे मजा आता है। मैं कॉमेडी शोज देखना भी बहुत पसंद करता हूं और इस समय कई अच्छे कॉमेडी शो प्रसारित हो रहे हैं। कॉमेडी सबसे कठिन काम है क्योंकि इसे जबरदस्ती नहीं किया जा सकता। यह सहज तरीके से होना चाहिए और पटकथा यहां बेहद जरूरी हिस्सा होती है।

यह शो निर्देशित करने का अनुभव कैसा रहा है ?

बेहतरीन अनुभव रहा है, शो के कलाकार बेहद प्रतिभाशाली हैं। पटियाला वाला शूट कठिन था क्योंकि जब हम वहां शूट का प्लान बना रहे थे तो लोगों ने हमें सलाह दी कि हम नहीं जायें क्योंकि वहां ठंड की वजह से हम शूटिंग नहीं कर पायेंगे। लेकिन पूरी टीम में से किसी को कोहरे वगैरह की वजह से दिक्कत नहीं हुयी। पूरी टीम प्रतिभाशाली लोगों की है जो वक्त वक्त पर सलाहें भी देती है जिसकी वजह से हर दृश्य की गहराई बढ़ती है। किरदारों को लेकर बहुत चर्चाएं और बहसें हुयी हैं और सेट पर माहौल बेहद सकारात्मक और सहज रहता है।

परमीत सेठी
परमीत सेठी

शो से आपको किस तरह की प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं ?

शो वैलेण्टाइन डे से शुरू हुआ है और टीम को बेहद सकारात्मक प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं। हम चाहते थे कि वैलेण्टाइन डे पर जो लोग शो देखें वो विनोद खन्ना के किरदार से जुड़ें और उसे अपनी व्यक्तिगत जिंदगी में महसूस करें। महिलाएं भी शो से जुड़ाव महसूस कर रही हैं।

क्या आपने इसे अपनी व्यक्तिगत जिंदगी में महसूस किया है ?

मेरा मानना है कि हर किसी ने अपनी बहन, मां, गर्लफेण्ड, दोस्त या पत्नी के साथ ऐसा महसूस किया होगा और मैं भी उनसे अलग नहीं हूं। मैंने खुद भी ऐसा महसूस किया है और अपने दोस्तों को भी महसूस करते हुये देखा है। इससे हर कोई गुजरता है क्योंकि महिलाओं को समझना बेहद मुश्किल है। मेरी शादी को एक दशक से ज्यादा हो गया लेकिन मैं दावा नहीं कर सकता कि मैं अर्चना को पूरी तरह समझ पाता हूं। कई मौके ऐसे रहे हैं जब मैं इसमें पूरी तरह से गलत साबित हुआ हूं। मैं कुछ अच्छा करने की कोशिश करता हूं लेकिन गलत हो जाता है।

क्या महिलाओं के मन को समझने की ताकत अगर आपको मिल जाये तो जिंदगी आपके लिये अलग होगी ?

अगर मैं महिलाओं की सोच को पढ़ने की ताकत पा जाऊं तो मेरे लिये अपनी पत्नी को समझना आसान होगा। मैं महिलाओं की बहुत इज्जत करता हूं और यह ताकत उन्हें बेहतर ढंग से समझने में मेरी मदद करेगी। बतौर निर्देशक मैं ऐसे शो बना सकूंगा जो महिलाओं को पसंद आये। बतौर कलाकार मै अपनी महिला सह-कलाकार, निर्देशक और निर्माता की बात बेहतर ढंग से समझ सकूंगा। मैं ये भी कह दूं कि इस ताकत से मैं महिलाओं को आधा ही समझ पाउंगा, आधा तो मुझे खुद ही करना पड़ेगा।

परमीत सेठी
परमीत सेठी

कलाकारों के साथ आपके संबंध कैसे हैं ?

मैं इनसे बेहतर कलाकारों की कल्पना नहीं कर सकता। हर कोई अपने किरदार में सटीक है और अपने किरदार से पूरा न्याय कर रहा है। सेट पर गजब का माहौल रहता है, मैं वाकई सेट पर पहुंचने और ऐसे प्रतिभाशाली कलाकारों के साथ शूट करने के लिये उत्सुक रहता हूं। सभी कलाकारों की ऑफस्क्रीन केमिस्ट्री भी कमाल की है। हम साथ में लंच करते हैं और सब कलाकार भी अपने मेकअप रूम में रहने की बजाय सेट पर मौजूद रहना पसंद करते हैं। हर कोई एक दूसरे को बेहतर करने को प्रेरित करता है। हम एक दूसरे से इतने जुड़े हैं कि शूटिंग नहीं होते हुये भी हम एक दूसरे से मिलने के मौके खोजते हैं।

आपकी अगली योजना क्या है ?

फिलहाल मेरा पूरा फोकस इसी शो पर है और मेरा पूरा वक्त सेट पर शूटिंग में बीत रहा है। इसके अलावा कुछ और पटकथाएं भी हैं, देखते हैं उनका क्या होता है। अभिनय में भी कुछ बातें शुरूआती अवस्था में हैं जिनके बारे में कुछ पुष्टि होने के बाद ही कहना ठीक होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here